रामायण के इस एक मंत्र को पढ़ने मात्र से मिलता है पूरी रामायण जितना फल ,

Ramayna Mantra

आज के समय में हर व्यक्ति शॉर्टकट ही ढूंढता है ,ऐसे में किसी के भी पास पूरी रामायण पढ़ने का भी समय नहीं है ,हालांकि इसका मतलब ये नहीं है वह व्यक्ति नास्तिक हो गया है ,वो पढ़ना तो चाहता है लेकिन दुनिया के इस टाइम मैनेजमेंट में रामायण के लिए या किसी शास्त्र के लिए समय उल्लेखित नहीं किया गया है ,
ऐसे में अगर इसका कोई शॉर्टकट मिल जाये तो भला कौन नहीं इसका लाभ लेना चाहेगा,

ऐसे ही आज हम आपको पूरी रामायण का फल एक मंत्र में देने जा रहे हैं ,जिसको पढ़ने मात्र से समूर्ण रामायण पढ़ने जितना फल मिलता है ,

हिन्दू धर्म में ऐसा भी कहा गया है की रामायण पढ़ने से लोगों के पापों का भी नाश होता है। इसलिए रामायण को पढ़ना सभी के लिए आवश्यक बताया गया है। रामायण में दो विद्वानों द्वारा लिखी गयी थी तुलसीदास जी द्वारा रचित रामायण था “रामचरित मानस” और वाल्मीकि द्वारा रचित था “रामायण” दोनों ही पुस्तकों में भगवान् श्री राम का जिक्र है। हालाँकि दोनों ही पुस्तकों में कुछ कुछ बातें ऐसी हैं जो एक दूसरे से अलग है लेकिन रामायण का ये एक मंत्र दोनों ह पुस्तकों में विधमान है। ये है वो महाफलदायक मंत्र जसके जाप से आपको सम्पूर्ण रामयण को पढ़ने जितना लाभ मिल सकता है।

आदि राम तपोवनादि गमनं, हत्वा मृगं कांचनम्।

वैदीहीहरणं जटायुमरणं, सुग्रीवसंभाषणम्।।

बालीनिर्दलनं समुद्रतरणं, लंकापुरीदाहनम्।

पश्चाद् रावण कुम्भकर्ण हननम्, एतद्धि रामायणम्।‍‌‍

मंत्र जप करने की विधि
इस मंत्र को पढ़ने से पहले कुछ विशेष नियमों का पालन करना बेहद करना आवश्यक है। सबसे पहले सुबह जल्दी उठकर सारे रोज के दिनचर्यां से निपटने के बाद स्नान करें और स्वच्छ वस्त्र धारण करने के बाद श्री राम की पूजा अर्चना करें। इसके बाद एक आसन लगाकर एक रूद्राक्ष की माला लें और इस मंत्र का जाप करना शुरू करें। रोज पांच बार रूद्राक्ष की माला के साथ इस मात्रा का जाप करने से आपको मनवांछित फल प्राप्त होगा और आपके सारे रुके हुए कार्य पूर्ण होंगे।

इस मंत्र के जाप के दौरान अगर कुश से बने आसान पर विराजमान होकर मंत्र जाप की जाए तो उसे और भी अच्छा माना जाता है। इस प्रकार से आप भी अगर सम्पूर्ण रामायण का जाप करने का समय नहीं निकाल पा रहे हों तो कम से कम इस एक मंत्र का जाप जरूर करें।
आपके घर का क्लेश इससे समाप्त हो जाएगा साथ ही धनधान्य की भी कोई कमी नहीं रहेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *