पैसा कमाना है तो रोज सुबह जाप करे इस मंत्र का

Morning Worship

देवी देवताओं के कल्पांकिन विश्वास के पश्चात् अगर किसी प्रत्यक्ष ईश्वर को माना जाता है तो वो सूर्य देवता हैं जो अपने तेज़ प्रताप के कारण हर जीवित जीव चाहे वो इंसान हो या जानवर सबके जीवन से अँधेरा को दूर कर उजाला भर देते हैं। इसलिए भी लोग सूर्य देव की पूजा आराधना करते हैं ताकि उनके जीवन से अँधेरे का नाश हों और जीवन में उजाला और पॉजिटिव एनर्जी आये। आज हम आपको बताने जा रहें हैं सूर्य देव की उपासन करने से पहले पूजा की विधि और कुछ जरुरी मंत्र जिसका जाप कर आप भी आपने जीवन से अँधेरे और बुरी शक्तियों को दूर भगा सकते हैं।

ऐसा माना जाता है की सुबह अगर सूर्य देव की उपासना की जाये तो इससे जीवन में सुखों का प्रवेश तो होता ही है साथ ही साथ सुबह के समय सूर्य की रौशनी में देखने से आँख भी तेज़ होता है और कभी भी आँखों से जुडी कोई समस्या नहीं होती। सुबह उठकर स्नान करने के बाद सूर्य को धीरे-धीरे अर्घ दें और उस जल को किसी एक बर्तन में एकत्रित करते जाएँ। ऐसा माना जाता ही की अगर अर्घ देते समय जल जमीन पर गिर जाए तो सूर्य अर्घ का लाभ आपको नहीं मिलता है। सूर्य को अर्घ देने के बाद बर्तन में बचे हुए जल को तीन बार प्रतिमा लगते वक़्त अपने ऊपर छिड़कें। इस अलावा उस एकत्रित जल को आप किसी मिट्टी के गमले में भी डाल सकते हैं।

सूर्य को अर्घ देते समय कुछ महत्वपूर्ण मन्त्रों का जाप अवश्य करनी चाहिए अन्यथा आप लाभ से वंचित रह जाएंगे। सूर्य को अर्घ देते समय इस मंत्र का जरूर जाप करें ” ॐ एहि सूर्य सहस्त्रांशों तेजोराशे जगत्पतये, अनुकम्पये माम् भक्त्या गृह्नाग्रह दिवाकरः। इस मंत्र को रोज अर्घ देते समय कम से कम 11 से 12 बार जरूर जाप करें। इसके अलावा एक और मंत्र का जाप करना महत्वपूर्ण माना जाता है वो है “ॐ हीं हीं सूर्याय सहस्त्रकिरणाय, मनोवांछित फलं देहीः देहीः स्वाहा। इन दोनों मैट्रन का रोज नियमित रूप से जाप अवश्य करना चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *